Tuesday, 22 January 2013

शुक्र गृह का राशियों पर प्रभाव (शुक्र का राशि परिवर्तन)

शुक्र गृह के विभिन राशियों पर प्रभाव

इन ९ गृहों का १२ राशि पर काफी ज्यादा प्रभाव पड़ता है तथा ग्रहों के चाल और निवास स्थल के अनुसार अनेक प्रकार के लाभदायक और हानिकारक फल मनुष्य के जीवन में आते रहते है आइये जाने शुक्र गृह का इन १२ राशियों पर क्या प्रभाव पड़ता है 


१.मेष राशि पर :-

मेष राशि के अंदर शुक्र गृह रात्रि का जातक अल्पदृष्ठि वाला ,ईर्ष्यालु ,अविश्वाशी ,चोर ,नीच विरोध में तत्पर अशांत प्रकृति का होता है शुक्र प्रेम का गोचक होने के कारण स्त्री के प्रेमसम्बन्ध में जाने वाला होता है

 २.वृष राशि पर :- 

वृष राशि का स्वामी शुक्र होने के कारण जातक कृषक ,गंध-माल्या-वस्त्र युक्त ,दाता ,आज्ञाकारी,सुन्दर ,धनि सबका हित चाहने वाला ,अनके विधियों के ज्ञाता ,गुणकारी व परोपकारी होते है

 ३.मिथुन राशि पर :-

मिथुन राशि में शुक्र का होना जातक को विज्ञान-कला शास्त्र का ज्ञाता कृतज्ञ प्रसिध्द ,सुन्दर कार्मी .चतुरता से बोलने वाला ,प्रमी ,सज्जन ,गीत-संगीत से धन प्राप्त करने वाला ,कवि ,लेखक स्थिर मैत्री देव-ब्राह्राण भक्त वाला होता है

 ४.कर्क राशि पर :- 

कर्क राशि में शुक्र का होना व्यक्ति को पंडित बली रतिधर्मरत मृदु प्रधान इच्छित सुख व धन प्राप्त करनेवाला सुन्दर डरपोक रोग से पीड़ित अधिक स्त्रिसंग व माघपान करने वाला तथा अपने किसी वंश दोष के कारण दुखी होता है 

 ५.सिंह राशि पर :-

सिंह में शुक्र हो तो व्यक्ति स्त्री सेवी अल्प पुत्र वाला सुख-धन-आनंद से युक्त ,बन्धु प्रेमी परोपकारी अधिक चिन्ताओ से रहित गुरु-द्रिज -आचार्य की सम्मति मानने वाला होता है

 ६.कन्या राशि पर :-

कन्या राशि में शुक्र का होना व्यक्ति को अल्प चिंता वाला बनता है तथा परोकारी मृदु निपुण क्लाकुशन स्त्री से बहुत ही मीठा बोलने वाला तीर्थ व सभा में पंडित्व गुण वाला होता है 

 ७.तुला राशि पर :-

तुला राशि का स्वामी शुक्र होता है तथा तुला में शुक्र का होना व्यक्ति को परिश्रम से धन को पैदा करने वाला अपनी रक्षा करने में निपुण ,शुर ,पुष्प-सुगंध-वस्त्र प्रेमी,विदेश में यात्रा करने वाला होता है दानी शोभनीय सौभाग्यवान ,देव व दिव्ज की अर्चना से कीर्तिवान होता है 

 ८.वृश्चिक राशि पर :-

वृश्चिक में शुक्र होतो व्यक्ति अधर्मी ,बकवास करने वाला ,विदेध्षी ,नृशंस ,भाईयो से विरक्त ,अप्रशंसनीय पापी ,हिंसक ,दरिद्र ,नीचता में तत्पर ,गुप्तांग रोगी व शत्रुनाशक होता है


 ९.धनु राशि पर :-

धनु राशि में शुक्र का होना अच्छा माना जाता है इसमें व्यक्ति उत्तम धर्म-कर्म-धन से युक्त ,जगत प्रिय ,सुन्दर ,कुल में धनि ,विद्वान ,मंत्री ,उंचा शरीर ,चतुर होता है 

 १०.मकर राशि पर :-

मकर राशि में शुक्र हो तो जातक व्यय के भय से संतप्त ,आसक्त ,हर्दय रोगी ,दुर्बल देह ,धन का लोभी ,लोभ वश असत्य बोल कर ठगने वाला ,निपुण ,क्लीव ,दुसरे के धन की इच्छुक ,दुखी ,मूढ़ ,क्लेश सहन करने वाला होता है 

 ११.कुम्भ राशि पर :-

कुम्भ राशि के जातको के लिए शुक्र गृह का होना उद्देग रोग तप्त ,विफल कर्म में संलगन ,परस्त्रीगामी, विधर्मी ,गुरु व पुत्रो से वैर करने वाला ,स्नान-भोग-वस्त्राभूषण से रहित ,व मलिन होता है

 १२.मीन राशि पर :- 

मीन में शुक्र हो तो जातक दक्ष ,दानी ,गुणवान ,महाधनि ,शत्रुओ को नीचा दिखने वाला ,लोक में विख्यात बुदिमान ,सज्जनो से सम्मान पाने वाला ,वचन का धनी ,वंशधर व ज्ञानवान कार्य करने वाला होता है
Share This
Previous Post
Next Post